एल एम बेकर्स प्रायवेट लिमिटेड की बस में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं

एल एम बेकर्स प्रायवेट लिमिटेड की बस में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं
सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करते हुए बडा रहे है खतरा
मण्डीदीप । नगर में लगभग 400 कम्पनीयॉ ऑपरेशनल हैं 20 तारीख तक लगभग 300 फैक्ट्रीयों को चालू करने की अनुमति दी सकती है। अभी ओद्योगिक क्षेत्र की लगभग 25  फैक्टरियांे में उत्पादन जारी हैं। सरकार द्वारा फार्मा और फुड प्रोसेसिंग से जुडी कम्पनीयों को सशर्त दी गई छूट का बस संचालक अैर प्रबंधक मजाक उडा रहे हैं। कम्पनीयों में कार्यरत अधिकारीयों और कर्मचारियों के आवागमन हेतु बस सेवा है। लेकिन इन बसों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीे किया जा रहा है। प्रतिदिन इन कम्पनीयों की बसों में अवशक्ता से अधिक लोगों को भरकर लोगों की जान से खिलवाड किया जा रहा है। शासन के दिशा निर्देशों में स्पस्ट है कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने पर अनुमती स्वतः निरस्त मानी जाएगी। लेकिन पुलिस व प्रशासन की अनदेखी से एल एम बेकर्स प्रायवेट लिमिटेड के बस चालक व प्रबंधक लोगों की जान से खिलवाड कर केरोना के खिलाफ जंग को कमजोर करने में लगे है।
 पिछले कई दिनों सें कम्पनीयों की बसों में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमांे की धज्जियां उड़ाई जा रही है। बुधवार को दावत फुड्स कम्पनी की बस डच्व्4 च्।.3831 में,इसके पूर्व वर्धमान और हकई कम्पनी के कर्मचारीयों को सीट के अलावा खडे कर के ले जाया गया। इस संबंध में कम्पनीयों के जिम्मेदार अधिकारी बात करने से कतराते है या फिर बस चालक की गलती बताकर पल्ला झाड देते हैं।
अनुविभागीय अधिकारी गैहरगंज ने एल एम बेकर्स प्रायवेट लिमिटेड को 13 अप्रेल को तीन बसों के संचालन की अनुमति दी थी। अनुमति पास में प्रत्येक वाहन को दो घंटे में सेनेटाईज कर प्रत्येक व्यक्ति को मास्क पहनने की भी अनिवार्यता लिखी गई है। साथ ही अधिकारी लॉक डाउन के पालन की जानकारी देते हुए नियम-कायदों की बात भी समझाने के बाद ही पास जारी करने का दावा करते है। बावजूद इसके कंपनी की इन बसों की यह तस्वीरें हैरान कर देने वाली हैं। ऐसा लगता है, मानों कोरोना किलर से एकजुट होकर लड़ रहे इस देश का यह कंपनी मख़ौल उड़ा रही हो।
ऐसे में आप अंदाजा लगा सकते हैं, की एल एम बेकर्स प्रायवेट लिमिटेड, दावत फुड्स, वर्धमान, हकई कम्पनी और इनके जैसी अन्य फैक्टरियों द्वारा बरती जा रही ऐसी घोर लापरवाही के परिणाम कितने भयंकर हो सकते हैं। कोरोना के कहर से देश को निजात दिलाने की भारत सरकार की मंशा को ऐसे कारखाने पलीता लगाते हुए बड़े संकट का कारण बन सकती है। अधिकारी सिर्फ कार्रवाई की बात कहकर टालमटोल कर रहे है।
इनका कहना है-
सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने की शर्त पर ही बसों को अनुमति दी गई है। औद्योगिक इकाईयों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के लिए श्रम अधिकारी को निर्देश दिए गए हैं। कार्रवाई की जाएगी।
- संतोश बिधौलिया तहसीलदार गौहरगंज
- दावत फूड्स के श्रमिकों को लेजाने वाली बस में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने की अभी जानकारी नहीें है। यदि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीे किया जा रहा है तो निर्देशानुसार कार्रवाई कर एसडीएम को रिपोर्ट देंगें। उचित कार्रवाई की जाएगी।
-  के एम खींची श्रम अधिकारी मंडीदीप
सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने वाली बसों पर कार्रवाई की जा रही है। बस आपरेटरों को समझाईश दी जा रही है। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने पर धरा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी है।
- गिरीश दुबे थाना प्रभारी सतलापुर


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.