कालोनी के नाले में मिला शव नाबालिग की संदिग्ध मौत







 कालोनी के नाले में मिला शव नाबालिग की संदिग्ध मौत

 फिलहाल हादसा मानकर जांच  में जुटी पुलिस को पीएम रिपोर्ट का इंतजार

 

 मंडीदीप-  शुक्रवार की रात करीब 11:00 बजे शहर के वार्ड 23 शीतल सिटी कॉलोनी के पास रहने वाली  एक नाबालिक बच्ची का नाले के पास  पुलिस को शव मिलने से सनसनी फैल गई।पुलिस को बच्ची की मौत के कारणों का पता नहीं चल सका,  फिलहाल पुलिस इसे हादसा मानकर चल रही है बताया जाता है कि मृतिका को मिर्गी की बीमारी थी इसी कारण डूबने से उसकी मौत हो गई इधर  पुलिस को पीएम रिपोर्ट का इंतजार है जानकारी के अनुसार शीतल सिटी के पास झुग्गी बना कर रहने बाले मजदूर परिवार की तीसरे नंबर की 15 वर्षीय बेटी की नाले में डूबने से मौत हो गई  घटना की जानकारी  परिवार को  मजदूरी से लौटने के  बाद शाम को हुई परिजनों ने पुलिस को बताया कि घर मे अकेली नाबालिग थी। जब वे लौटे तो बेटी घर पर नही थी उन्होंने  रिस्तेदारो व आसपास के घरों में पूछताछ की जब काफी देर हो गई तो मंडीदीप थाना पुलिस को सूचना दी गई। इस बीच परिजनों के साथ आस-पड़ोस के लोग भी बालिका की तलाश करते रहे इस दौरान कालोनी के नाले की और तलाश की गई तो बच्ची नाले में पड़ी दिखी तब तत्काल  पुलिस को सूचना दी गई थाना प्राभारी राजीव  घटना स्थल पर पहुंचे इस दौरान एसडीओपी मलकीत सिंह भी मौजूद थे। टी आई राजीव जांगले ने बताया की नाबालिग बच्ची का शव मिला है पंचनामा बनाकर शव को पीएम के बाद परिजनों के हवाले कर दिया पुलिस जांच कर रही है मृतका की माँ ने पुलिस को बताया की  वह कुछ समय से अस्वस्थ्य थी। 

 

शरीर पर नहीं मिले चोट के निशान

 

एसडीओपी मलकीत सिंह ने बताया की  मृतिका को मिर्गी (फीट)की बीमारी थी संभवत  वह जब नाले के पास गई होगी तो गस (चक्कर) खाकर नाले में गिर गई होगी इस पोजीशन में बॉडी मिली है उसमें मुंह पानी में डूबा हुआ था पुलिस को आशंका है कि बच्ची यहां नाले के पास सोच के लिए आई होगी और तभी उसे मिर्गी आ गई होगी जिससे वह नाले में गिर गई और पानी में डूबने से उसकी मौत हो गई एसडीओपी  सिंह ने बताया कि बच्ची के शरीर पर चोट के कोई निशान नही थे  फिर भी हम हर एंगल से जांच कर रहे हैं पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद  ही पता चलेगा कि मोत कैसे हुई फिलहाल पुलिस जांच में जुटी है।

बिसरा और हड्डी की कराएंगे जांच 

संदिग्ध परिस्थितियों में हुई बच्ची की मौत का पीएम करने वाली डॉक्टर अमृता  का कहना है कि शरीर में चोट के किसी तरह के निशान नहीं मिले हैं उन्होंने दुष्टकृत्य  किए जाने की बात से भी इनकार किया है उन्होंने कहा कि बिसरा और हड्डी जांच के लिए सैंपल लिए गए हैं जिनकी पुलिस द्वारा जांच कराई जाएगी।


 

 



 



 















ReplyForward







एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.