जिले के अधिकारी कर्मचारियों को दिया गया ई.एस.एस. एवं पेंशन माॅड्यूल का प्रशिक्षण

 जिले के अधिकारी कर्मचारियों को दिया गया ई.एस.एस. एवं पेंशन माॅड्यूल का प्रशिक्षण

हरदा -  जिले के समस्त आहरण अधिकारियों एवं उनके कार्यालय के कर्मचारियों को कोषालयीन साफ्टवेयर IFMIS परियोजना अंतर्गत ई.एस.एस. (एम्पलाई सेल्फ सर्विस) एवं पेंशन माॅड्यूल का दो दिवसीय प्रशिक्षण ई दक्ष केंद्र में प्रदान किया गया।

              सिस्टम मैनेजर शैलेन्द्र महाजन ने प्रशिक्षण देते हुए कहा कि नवीन प्रणाली में अब कर्मचारी की स्वयं की लाॅगिन से उसकी प्रोफाईल पूर्ण किया जाना अनिवार्य है। कर्मचारी अपनी लाॅगिन से अपने यात्रा देयक, मेडिकल देयक, अवकाश आवेदन कर रहे हैं। सेवानिवृत्त होने जा रहे कर्मचारी का पेंशन प्रकरण भी स्वयं की लाॅगिन से ही तैयार होता है। पेंशन प्रकरण तैयार करने के लिये ऐसे कर्मचारियों की प्रोफाईल पूर्ण किया जाना आवश्यक र्है। इसके तहत कर्मचारी का फोटो, दस्तखत, परिवार का विवरण, नाॅमिनी का बैंक डिटेल, डाक का पता, मोबाईल नंबर, ई-मेल एड्रेस दर्ज किया जाना होता है, इसके लिये आवश्यक दस्तावेज भी सेवानिवृत्त होने जा रहे कर्मचारी स्वयं ही अपलोड करेंगे।  कार्यालय प्रमुख इन सारे विवरणों की जांच मूल दस्तावेजों से कर इसे अनुमोदन करेंगे। इसके पश्चात कर्मचारी की लाॅगिन से पेंशन प्रकरण तैयार होगा, जो कार्यालय प्रमुख के अनुमोदन के बाद जिला पेेंशन कार्यालय को ऑनलाईन जायेगा। जिला पेंशन अधिकारी के अनुमोदन के पश्चात कर्मचारी का पेंशन एवं उपादान प्राधिकार पत्र जारी होगा एवं उनका पेंशन और उपादान का भुगतान ऑनलाईन कर्मचारी के बैंक खाते में जमा हो जायेगा। इस प्रक्रिया से सेवानिवृत्त कर्मचारी को उनके पेंशन प्रकरण की अद्यतन स्थिति मोबाईल पर ही अपनी स्वयं की लाॅगिन से प्राप्त होती है, किसी से भी पूछने की आवश्यकता नहीं होती। साथ ही सेवानिवृत्ति के दिन ही सारे स्वत्वों का भुगतान हो जाता है। यदि कोई कर्मचारी स्वयं डाटा फीड नहीं कर सकता है, तो कार्यालय प्रमुख यह कार्य कर सकते हैं। दिवंगत शासकीय कर्मचारी का परिवार पेंशन प्रकरण कार्यालय के द्वारा तैयार किया जायेगा एवं परिवार पेंशनर की सभी जानकारियां उनसे लेकर कार्यालय की लाॅगिन से दर्ज की जायेंगी।

           पेंशन प्रकरणों के प्रकार, पेंशन प्रकरण तैयार करने के पूर्व कर्मचारी का नाम, परिवार विवरण, नाॅमिनी विवरण, बैंक खाता क्रमांक आदि ईएसएस माॅड्यूल में प्रविष्ठ करने की प्रक्रिया सभी प्रशिक्षणार्थियों को प्रायोगिक प्रशिक्षण के माध्यम से समझाई गई।

           जिला कोषालय अधिकारी श्रीमती हीरावती उईके ने बताया कि आयुक्त कोष लेखा के निर्देशानुसार सभी आहरण संवितरण अधिकारियों के लिये यह प्रशिक्षण लेना अनिवार्य किया था। प्रशिक्षण का उद्देश्य सभी को अपनी प्रोफाईल अपडेट करने की पूर्ण जानकारी देना था ताकि जिले में पेंशन प्रकरणों का तुरंत निराकरण हो सके एवं कोई भी प्रकरण अपूर्ण जानकारी के कारण लंबित न रहे। उन्होंने सभी शासकीय सेवकों से अनुरोध किया कि वरिष्ठ कार्यालय के निर्देशानुसार 31 मार्च 2021 तक सभी लोग अपनी प्रोफाईल पूर्ण कर लेें। प्रशिक्षण में जिले के आहरण अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे एवं प्रशिक्षण का लाभ लिया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.